*गणित की दिमागी कसरत करे*

गणित की दिमागी कसरत करे
एक बोतल जो की शहद से भरी हुई है ! शहद की बोतल (भरी हुई ) का बजन 1.5 K.G. है ! जब बोतल का बजन तोला गया तब वह आधी भरी थी ! उस समय उसका वजन 900 ग्राम था ! अब आप ये बताये की उस बोतल (खाली ) का वजन कितना था !
जवाब -
मान लीजिए बोतल का वज़न = क
और शहद का वज़न = ख
दोनों मिला के (मतलब) क + ख = १५०० ग्राम
जब बोतल का बजन तोला गया तब वह आधी भरी थी ! उस समय उसका वजन 900 ग्राम था !
मतलब ये हुआ की क + (ख/२) = ९०० ग्राम
गणित के हिसाब से क + (ख/२ ) = ९००
इसे हम ये भी कह सकते हैं
२क +ख = १८००
यहाँ तक समझ गए होंगे !
अब सवाल सोल्व होता है ! (लाल मार्क देखें )
घटा देन इसको !
२क +ख = १८००
क + ख = १५००
----------------
क + ० = ३००
-----------------
क का मतलब बोतल का वज़न
३०० सही जवाब



यह पोस्ट कोपीराईट है-
उलझेंगे तो सुलझेंगे भी, उलझेंगे ही नहीं तो सुलझेंगे कैसे?
पर उलझे ही रहने में भी किसी किसी को सुख महसूस होता है और कुछ लोग इस डर से कि रहने दो, कौन उलझे, जिन्दगी भर / अन्त तक दुविधा में ही पड़े रहते हैं । अपनी अपनी प्रकृति है, कोऊ काहू में मगन, कोऊ काहू में मगन ! किन्तु कुछ लोग सिर्फ इसलिए भी उलझन में फँसे रहते हैं क्योंकि वे यथार्थ से पलायन करना चाहते हैं, यथार्थ को देखना तक नहीं चाहते । यथार्थ को जानना / समझना भी उन्हें अनावश्यक झमेला प्रतीत होता है ! सुविधापसंद ऐसे लोग भी अपने तरीके से सुखी / दुःखी होने के लिए मज़बूर / स्वतंत्र तो होते ही हैं !  

ज्यादातर लोगों को मुश्किल लगने वाले दिमागी सवाल हल करने में मजा आता है। कुछ सवाल तो ऐसे होते हैं जिसे सुनने के बाद लोग हार मान जाते हैं कि उनसे नही होगा तो कुछ लोग उसमे पर्सनल इंटरेस्ट लेते हैं और उस सवाल को हल कर के हीं मानते हैं। चलिए आज जानते हैं कुछ ऐसे हीं सवाल जिसे हल करना सभी के बस की बात नही होती है।
Related Posts

Tambahkan Komentar Sembunyikan